जालंधर के लिए कैसा रहा साल 2018, पढ़ें जिला प्रशासन की तरफ से जारी की गई उपलब्धियां

जालंधर, (PNL) : जालंधर के लिए वर्ष 2018 एक ऐसे वर्ष के तौर पर जाना जाएगा, जिसकी बदौलत जिले के योगय प्रशासकीय आधिकारियों की सूझबूझ से एक तरफ़ विकास के प्रोजैक्टों को बडा प्रोत्साहन मिला, वहीं दूसरी तरफ़ जि़ले में बेमिसाल विकास के साथ साथ आपसी सदभावनाओं और भाईचारक सांझ की तारों को और मज़बूत मिली।
जालंधर के डीसी वरिन्दर कुमार शर्मा के नेतृत्व में जि़ला प्रशासन ने लोक सेवा का नया स्थान स्थापीत करते हुए लोगों की तरफ से लंबे समय से प्रतीक्षा किये जा रहे आदमपुर हवाई अड्डे से घरेलू उड़ानें शुरू करने के साथ साथ लंबे समय से रुके पी.ए.पी रामा मंडी फ्लााईओवर का काम फिर शुरू करवा कर शहर को एक स्मार्ट शहर के तौर पर विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किये।
परन्तु इस से भी अधिक गर्व वाली बात यह रही कि बेहद संवेदनशील स्थितियों में भी शहर की अमन कानून की स्थिति को बरकरार रखा गया और इस के साथ साथ शहर में आपसी सदभावनाओं और भाईचारक सांझ की तारों को भी ओर मज़बूत किया गया। शाहकोट की जीमनी मतदान और पंचायती राज संस्थारओं की मतदान को शांतिपूर्वक और निष्पक्ष ढंग से पूर्ण करके जि़ला प्रशासन ने एक और महत्वपूर्ण मील पत्थर स्थापित किया।
पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने शहर को एक अहम उपहार देते हुए जंग-ऐ-आज़ादी मैमोरियल के दूसरे पड़ाव का लोक अर्पण किया जिससे जि़ला विश्व भर में एक अहम घूमने फिरने वाले स्थान के तौर पर विकसित हुई हैं। इस उपरांत दो अलग-अलग समागमों में मुख्यमंत्री ने पहुँच कर किसानों और कंमज़ोर वर्ग के लोगों को कर्ज राहत सर्टिफिकेट बाँटे।
दोआबे के लिए और ख़ास तौर पर जालन्धर के लिए मई एक ऐतिहासिक महीने के रूप में जाना जायेगा क्योंकि उस दिन पंजाब के कैबिनेट मंत्री सुन्दर शाम अरोड़ा ने पंजाब सरकार की तरफ से आदमपुर में घरेलू उड़ान के द्वारा पहुँचे यात्रियों का भरपूर स्वागत किया। आदमपुर से घरेलू उड़ानों के शुरू होने से जहाँ इस क्षेत्र के लोगों को बहुत लाभ मिला है, वही इस क्षेत्र की आॢथकता को भी प्रोत्साहन मिला है। इस प्राजैक्ट को शुरू करने में जालन्धर के डिप्टी कमिशनर का एक बड़ा योगदान है जिन्होंने इस प्राजै1ट को पूर्ण करने के लिए दिन रात मेहनत करके इसको समय अनुसार पूर्ण करवाया।
डिप्टी कमिशनर द्वारा ली गई निजी रूचि से रामा मंडी, पी.ए.पी 3लाईओवर का करीब दस सालों से रुके हुआ काम भी इस साल पूरे जोर-शोर से फिर शुरू किया गया हैं। यह प्राजैक्ट दिल्ली से अमृतसर, होशियारपुर, कपूरथला, पठानकोट और जम्मू आने जाने वाले लोगों के लिए काफ़ी अहमीयत रखता है। इस प्राजै1ट के पूर्ण होने पर जहाँ एक तरफ़ लोगों को राष्ट्रीय शाह मार्ग पर लगने वाले ट्रैफिक जामों से निजात मिलेगी वहीं इससे शहर की ट्रैफि़क समस्या का भी हल होगा।
लोगों को नशें के विरुद्ध रोकने के लिए पंजाब सरकार की तरफ से शुरू की गई डैपों मुहिम के भी इस वर्ष सार्थक नतीजे देखने को मिले। अपने आप में एक अलग अभियान के दौरान लोगों की तरफ से भी जिला प्रशासन की भरपूर सहायता की गई जिससे नशे के कोढ़ को जालंधर में जड़ से उखाड़ा जा सके। जि़ला प्रशासन की तरफ से इस वर्ष के दौरान करवाए गए पैदल मार्च और दौड में भी समाज के हर वर्ग को सम्मलित की गई जिससे नशे के विरुद्ध इस मुहिम को प्रोत्साहन मिला।
इस तरह पंजाब के मुख्य मंत्री ने पंजाब को स्वस्थ बनाने के लिए शुरू किये गए तंदूरुस्त पंजाब मिशन को भी शहर में प्रोत्साहन मिला 1योंकि डिप्टी कमिशनर के नेतृत्व में अलग -अलग विभागों ने नागरिकों को अच्छा स्वास्थ्य और वातावरण उपलब्ध करवाने के लिए अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी को निभाया जहाँ एक तरफ़ हवा, पानी और ध्वनि प्रदूषण करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध सख्ती की गई वहीं इसके साथ साथ मिलावटी चीजें बेचने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही की गई। डिप्टी कमिशनर के निर्देशों और जि़ले को हरा भरा साफ़ सुथरा, स्वास्थ्य और प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए इस मुहिम का बड़ा योगदान रहा।
मिज़ल रूबेला टीकाकरण मुहिम के दौरान भी जालंधर ने राज्य भर में कई महत्वपूर्ण उपल4धीयां हासिल की और इस वर्ष जब इस टीकाकरण मुहिम के विरूद्ध सोशल मीडिया पर जमकर झूठा प्रचार हो रहा था तो डिप्टी कमिशनर ने स्वयं आगे आते हुए इस मुहिम के अंतर्गत अपनी, बेटियों को टीका लगवा कर लोगों का विश्वास इस मुहिम में स्थापित किया। इसके निष्कर्ष के तौर पर जालन्धर इस मुहिम में ९९.५ प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण करके पंजाब में पहले स्थान पर रहा इस दौरान ४.५० लाख बच्चों का टीकाकरण किया गया।
जहाँ जि़ला प्रशासन ने जि़ले में और पंजाब में अपने बेहतरीन कामों से लोगों का दिल जीते वहीं इसके साथ-साथ बाढ़ पीडित राज्य केरला की सहायता में सब से आगे रोल अदा करके जिला प्रशासन ने सांसारिक स्तर पर नाम को कमाया। पंजाब के मु2य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अपील और लोगों के सहयोग से जि़ला प्रशासन ने २०.४३ लाख रुपए की राशि केरल के मुख्यमंत्री राहत कोष में भेजी। इसी तरह जिला प्रशासन ने चार जहाजों में और रेल की दो बोगियों में १५०० क्विंटल के करीब राहत सामग्री भी भेजी।
डिप्टी कमिशनर के नेतृत्व में जि़ले के अधिकारियों की तरफ से अलग -अलग क्षेत्रों का दौरा किया गया जिससे लोगों की समस्याओंं को जाना जा सके। लोगों की तरफ से जिन समस्याओं का सामना किया जा रहा था। उनको डिप्टी कमिशनर और अन्य सीनियर अधिकारियों की तरफ से अनेकों क्षेत्रों का दौरा करके मौके पर ही हल किया गया। सरकारी कार्यालय के काम काज को बेहतर बनाने को विश्वसनीय करने के लिए जि़ला प्रशासन की तरफ से कार्यालयों और शैक्षिक संस्थाओं और अन्य संस्थाओ की अचानक चैकिंग भी की गई।
पूरे वर्ष के दौरान जिले में प्रजातांत्रिक प्रणाली को मज़बूत करने के लिए योग्य वोटरों को वोटर के तौर पर रजिस्टर्ड करने के लिए मुहिम चलाई गई। इस विशेष मुहिम के दौरान यह विश्वसनीय बनाया गया कि कोई भी योग्य वोटर वोट बनाने से वंचित ना रह जाये। जिला प्रशासन की तरफ से कालेज के नोडल आधिकारियों को इस ज़रूरी काम के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए सम्मानित भी किया गया जिससे राज्य के आने वाली मतदान में वोट डाल सकें।
इस तरह लोगों को अन-अधिकारिक ट्रैवल एजेंटों के जाल से बचाने के लिए जिला प्रशासन ने अन-अधिकारिक ट्रैवल एजेंटों के विरुद्ध स2ती की गई और यह विश्वसनीय बनाया गया की कोई भी ट्रैवल एजेंट बगैर लाइसैंस के यह काम ना करे। इस मुहिम का एक मात्र उदेश्य है था कि ट्रैवल एजेंट लोगों को गुमराह करके अन-अधिकारिक तौर पर कोई काम न कर सकें।
देश के महान योद्धाओं को याद करते हुए जिला प्रशासन ने देश के राष्ट्रीय नायक महात्मा गांधी, नेता सुभाष चंद्र बोस, डॉ .बी.आर अंबेदकर और अन्यों से स6बन्धित दिवसों को भी पूरी श्रद्धा से मनाया गया। देश के महान सपूत शहीद कैप्टन रुपिन्दर सिंह गर्चा और अन्य शहीद जवानों को श्रधांजलि भेंट की गई जिससे उनकी शहादत से नौजवान पीढी को देश की एकता और अखंडता के लिए समर्पित होने की प्रेरणा मिल सके।
कला और विरासत के उभार के लिए भी जिला प्रशासन ने विरसा व्यवहार में सांस्कृतिक गतिविधियों को लगातार करवाए जाने को विश्वसनीय बनाया गया। ज़रूरतमंदों की सहायता करने के लिए भी जिला प्रशासन ने डिप्टी कमिशनर जालंधर के नेतृत्व मे काम किया जा रहा है। एक और अगल पहल में डिप्टी कमिशनर ने दशहरा और दिपावली जैसे त्योहार रैड क्रास और प्रयास स्कूल में विशेष ज़रूरतों वाले बच्चों के साथ मनाये जाने की रवायत को भी कायम रखा गया। इस तरह सिविल अस्पताल जालन्धर में इलाज के लिए आने वाले लोगों को केवल १० रुपए में पौष्टिक भोजन उपल4ध करवाने के लिए सांझी रसोई की शुरुआत की गई जोकि शानदार ढंग से सेवाओं को उपल4ध करवा रही है। इस रसोई में रोज़मर्रा की ४०० से ४५० लोग भोजन करते हैं।
स्वच्छता ही सेवा प्रोजै1ट के अंतर्गत लोगों को सैनिटेशन प्रोग्रामों के बारे मे जानकारी देकर जिला प्रशासन ने स्वच्छाथोन जिस में साईकलिंग और पैदल मार्च शामिल थी करवाई गई। इस मुहिम में लोगों को भागीदार बनाने के लिए भी प्रयास शुरु किया गया। बरसाती मौसम के दौरान जब बाढ का खतरा होता है तो जिला प्रशासन ने की तरफ से डिप्टी कमिशनर के नेतृत्व में महत्वपूर्ण बाढ रोकू प्रबंध किये गए। डिप्टी कमिशनर ने सतलुज नदी के किनारे पर पड़ते इलाकों का दौरा करके प्रशासन की तरफ से किये आगामी प्रबंधों के बारे में लोगों को जानकारी देकर उनका विश्वास बहाल किया गया।
जिला प्रशासन ने राज्य सरकार के प्राथमिक प्रोग्रामों जिन में पंजाब शहरी अवास योजना, गार्डीयन आफ गवर्नेंस, महात्मा गांधी सरबत विकास योजना, किसान कजऱ् मुक्ति स्कीम और अन्य स्कीमों को सही ढंग से लागू किया गया। कैप्टन अमरिन्दर सिंह मुख्यमंत्री पंजाब के योग्य नेतृत्व वाली सरकार की घर -घर रोजगार देने की वचनबद्धता को अमली जामा पहनाने के लिए जिले के नौजवानों को रोजगार देने के लिए जिला रोजगार ब्यूरो सैंटर जिला प्रशासकीय कंपलै1स में स्थापित किया गया जिसके उद्घाटन से जालंधर के लोक सभा मैंबर चौधरी संतोख सिंह की तरफ से किया गया।
जिले में धान की हुई पैदावार को जिला प्रशासन ने निर्विघ्न खरीद को विश्वसनीयस बनाया गया। जिले के ७१ के करीब खरीद केन्द्रों में प्रशासन की तरफ से अलग-अलग उच्च आधिकारियों की टीमें तैनात की गई जिन की तरफ से पूरी खरीद प्रक्रिया बिना किसी परेशानी के पूर्ण की गई। मंडीयों से समय पर धान की उठवाई और किसानों को अदायगी भी समय पर की गई।
वातावरण संभाल के लिए पराली को आग लगाने की बजाय खेतों में ही निपटारा करने की मुहिम को जालंधर जिले के किसानों ने बड़ा स्वीकृति दी । जि़ला प्रशासन द्वारा किये गए अंथक प्रयासों के फलस्वरूप जिले में १० लाख मीट्रिक टन धान की फ़सल और ५ लाख मीट्रिक टन के करीब गेहूँ को निर्विघ्न उठाया गया। जालंधर जोकि ट्रक यूनियन के केंद्र बिंदु के तौर पर जाना जाता रहा है में ट्रक यूनियन का कमर तोड़ते हुए जि़ला प्रशासन ने यह काम बहुत ही उच्चित ढंग से पूर्ण कर एक नया कीर्ति मान स्थापित किया।
जिले के नौजवानों को सही दिशा प्रदान करने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से पाँचवां स्पार्क कैरियर काउंसलिंग मेला करवाया गया जिस में ३५००० से अधिक विद्यार्थियों ने पहुँच की। इस मेले का मु2य उदेश्य मूलभूत तौर पर विद्यार्थियों को भविष्य में रोजग़ार, ऊँची शिक्षा और खेल के लिए नेतृत्व देकर तैयार करना था।
इसी तरह स्मार्ट सी.टी प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक लागू करने के लिए गठित सी.टी स्तर एडवाइजरी फोरम ने स्मार्ट सी.टी योजना के अंतर्गत जालंधर शहर के लिए १२०० करोड़ रुपए के प्रोजे1टों को इस वर्ष सद्धांतिक परवानगी दे दी है।
इस प्रोजेक्ट के अधीन जिले में इंटीगरेटड कमांड एंड कंट्रोल सैंटर, स्मार्ट 1लास रूम स्थापित करने के साथ साथ सरकारी इमारतों के छतों पर सौर ऊर्जा प्लांट लगाने, सड़कों की सफ़ाई के लिए मशीनें भेजने, शहर के अंदरूनी क्षेत्रों में बिजली की तारों का बढिय़ा प्रबंध करने, शहर में हरी पट्टी को विकसित करना, रेलवे स्टेशन पर लि3ट लगाने के बारे में ई -रि1शा और सी.एन.जी के आटो रिक्शा चलाने, शहर में साइकिल ट्रैक बनाने, स्मार्ट बस अड्डा बनाने, स्मार्ट बसें, स्मार्ट पार्किंग, डिजिटल पुस्तकालय, पीने वाले पानी की स्पलाई, बारिश के पानी की संभाल, सिवरेज व्यवस्था में सुधार, ठोस अवशेषों का प्रबंध, जनतक शौचालयों के निर्माण, फाइबर ओपटीकल और वाये9फाये सुविधा के लिए यंत्र लगवाने, कुदरती आफतों के मुकाबले में और बाद में राहत कामों के लिए योजनाबंदी करने से स6बन्धित फ़ैसलों को मंज़ूरी दी गई है।
Please follow and like us: