पंजाब के लोग भी पसंद करेंगे वुडबॉल, ये गरीबों का गोल्फ है : आशीष देशमुख

जालंधर, (PNL) : पंजाब सरकार के खेल विभाग से वुडबॉल को दिसंबर 2018 में मान्यता मिल जाने के बाद आज जालंधर के अम्बेसडर होटल में वुडबॉल असोसिएशन आफ इंडिया की नेशनल कार्यकारिणी की ऐजीएम बुलाई गई, जिसमे पंजाब में वुडबॉल को बढ़ावा देने के लिए एवं सरकार से अनुमति मिलने हेतु जानकारी दी गई। वुडबॉल असोसिएशन ऑफ इंडिया के प्रधान आशीष देशमुख ने बताया कि वुडबॉल खेल को गरीब लोगों का गोल्फ भी कहा जा सकता है। खास तौर पर पंजाब में इसे लाने का मुख्य कारण यह है कि पंजाब को खेल इंडस्ट्री भी कहा जाता है और यहाँ के खिलाड़ियों के लिए यह एक बहुत अच्छा मौका है।
वुडबॉल को एशियन बीच गेम्स में भी इसे शामिल किया गया है। इस खेल में अंडर 14, 17 और 19 के इलावा अंडर 25 तक के खिलाड़ी भाग ले सकते है। आर्थिक रूप से कमज़ोर खिलाड़ियों के लिए भी उनकी मदद के लिए वुडबॉल असोसिएशन ऑफ इंडिया हमेशा तत्पर रहता है। वुडबॉल असोसिएशन ने भारत सरकार से इस खेल को मान्यता देने की मांग की है व पंजाब सरकार एवं इंडियन ओलम्पिक से भी आर्थिक मदद की गुहार भी लगाई। उन्होंने बताया कि युगांडा में आयोजित होने वाली वुडबाल चैंपियनशिप के लिए भारतीय संघ का चयन 25 से 31 मई के बीच होगा। इस मौके पर पंजाब के उप-प्रधान पुनीत नारंग, हिमाचल प्रदेश के सचिव मनोज भारद्वाज, सिमरनजीत मिन्हास व अन्य मौजूद थे।
Please follow and like us: