पहले ही ट्रायल में फेल हुई बिना इंजन वाली ट्रेन, कई पुर्जे जलकर खाक

नई दिल्ली, (PNL) : भारतीय रेल की महत्वाकांक्षी टी-18 ट्रेन अपने पहले ही ट्रायल में फेल हो गई. चेन्नई के जिस इंटीग्रल कोच फैक्ट्री के इलेक्ट्रिक ट्रैक पर टी-18 का ट्रायल चल रहा था वहां हाई वोल्टेज के कारण ट्रेन के कई पुर्जे जलकर ख़ाक हो गए. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इस हादसे के बाद टी-18 को इलेक्ट्रिकल इंजन लगाकर चेन्नई से दिल्ली के सफदरगंज स्टेशन पहुंचा दिया गया.
बताया जा रहा है कि यह हादसा चेन्नई मंडल के अन्नानगर के पास ट्रेन के ट्रायल के दौरान 4 और 5 नवंबर को हुआ था. गौरतलब है कि टी-18 यानी ट्रेन-18 देश की पहली ऐसी ट्रेन है जिसमें अलग से इंजन का डिब्बा नहीं लगा है बल्कि इसके कई कोच ऐसे हैं जो सेल्फ़ पावर्ड हैं.
शताब्दी ट्रेन को रिप्लेस करने वाली इस ट्रेन 18 का अब से एक डेढ़ महीने तक ट्रायल होगा, जिसके बाद ये पटरियों पर दौड़ने के लिए तैयार होगी. ये भारत की पहली ऐसी ट्रेन है जिसमें अलग से कोई इंजन नहीं है. बल्कि इसमें ऐरो डायनामिक ड्राइवर कोच होगा.
Please follow and like us: