कोहली के शरीर पर एक दर्जन के करीब टैटू, देख दंग रह जाएंगे, बताया किसका क्या है मतलब

नई दिल्ली, (PNL) : क्रिकेट के तीन फॉर्मेट में से दो में दुनिया के नंबर-वन बल्लेबाज विराट कोहली अपने दृढ़संकल्प के सहारे लक्ष्य साधने में हमेशा आगे रहे हैं. अपने करियर के दौरान उन्होंने अपनी बॉडी पर अब तक 9 टैटू बनवाए हैं. ये सभी टैटू खास मकसद से बनवाए गए हैं. विराट ने ‘नेशनल ज्योग्राफिक’ चैनल पर एक डॉक्यूमेंट्री में इसका खुलासा किया है. आइये जानते हैं विराट ने कौन-कौन से टैटू बनवाए हैं और इनका क्या मतलब है.
अपने बाजू के पिछले हिस्से में ऊपर की ओर विराट ने अपने माता-पिता (सरोज और प्रेम) के नाम का टैटू हिंदी में बनवाया है.
विराट ने अपने पिता (प्रेम कोहली) के सपने को सच करने में सारी ऊर्जा लगा दी.
विराट भगवान शिव के उपासक है. उनके बाएं बाजू के टैटू में कैलाश पर्वत पर ध्यान में लीन भगवान शिव का चित्र है, जिसकी पृष्ठभूमि में मानसरोवर है.
बाएं बाजू पर ही शांति और शक्ति का प्रतीक मोनेस्ट्री (मठ) का टैटू है, जो क्रिकेट की पिच पर उनमें ऊर्जा भरता है.
2008 में कोहली ने वनडे इंटरनेशनल में डेब्यू किया. वह भारत की ओर से वनडे में पदार्पण करने वाले 175वें खिलाड़ी बने. इसलिए उनकी वनडे कैप का नंबर 175 है.
तीन साल बाद उन्होंने 2011 में टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा और वह 269वें खिलाड़ी बने. जिससे उनकी कैप का नंबर 269 है.
विराट ने ट्राइबल आर्ट भी बनवाया है. यह जनजातीय कला आक्रामकता का प्रतिनिधित्व करती है और आक्रामक भारतीय कप्तान का यह पहला टैटू है.
विराट के दाएं बाजू में जॉडिएक साइन स्कॉर्पियो (वृश्चिक) का टैटू बना है. विराट नवंबर में पैदा हुए हैं, जो मान्यताओं के अनुसार वृश्चिक राशि का महीना है.
बाएं बाजू पर जापानी समुराई योद्धा का टैटू है. यह जापानी समुराई हाथ में एक तलवार लिए हुए है. विराट इस टैटू को अपना ‘गुडलक’ मानते हैं.
विराट ने ओम (ॐ) का टैटू भी बनाया हुआ है. इस (ओम ) सुसंगत ध्वनि को वह जीवन का सार मानते हैं.
(टैटू की सभी तस्वीरें 24 सितंबर 2018 को नेशनल ज्योग्राफिक चैनल द्वारा प्रसारित मेगा आइकन एपिसोड ली गई हैं.)
Please follow and like us:
error: Content is protected !!