जालंधर : शहीद उधम सिंह नगर के मशहूर अंकल पकौड़े वाले के 26 साल के पोते की स्वाइन फ्लू से मौत, दो हफ्ते बाद थी शादी

संदीप साही
जालंधर, (PNL) : पंजाब के जालंधर से बेहद दुखद खबर है। शहीद उधम सिंह नगर के मशहूर अंकल पकौड़े वाले के 26 साल के पोते की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई है। मृतक गौरव उर्फ गोरू करीब दो हफ्ते से बीमार चल रहा था और स्वाइन फ्लू से पीड़ित था। उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया है। संस्कार दौरान सिर्फ उसके करीबी दोस्त ही गए, क्योंकि डॉक्टरों ने परिवार और रिश्तेदारों को जाने से मना कर दिया था।
जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पहले गोरू की तबीयक बिगड़ गई। पहले उसे सिक्का अस्पताल दाखिल करवाया और फिर बाद में पटेल अस्पताल ले गए। पटेल में हालत बिगड़ गई तो उसे लुधियाना डीएमसी ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। स्वाइन फ्लू से जालंधर में ये तीसरी मौत है।
दो हफ्ते बाद थी गोरू की शादी
दुखद पहले ये भी गोरू की कुछ महीने पहले रिंग सैरेमनी हुई थी और 14 फरवरी को वेलेनटाइन-डे वाले दिन उसकी शादी थी। परिवार वाले शादी की तैयारियों में जुटे हुए थे, लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था। गोरू के घर पर मातम छाया हुआ है और शहीद उधम सिंह नगर में भी शोक की लहर है। गोरू अपने पीछे माता-पिता और छोटे भाई को छोड़ गया है। गोरू के दादा (अंकल पकौड़े वाले) की पहले मौत हो चुकी है।
नाकाम प्रशासन, जालंधर में नहीं है ईलाज
स्वाइन फ्लू को रोकने के लिए सिविल अस्पताल पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहा है। मृतक के करीबियों का कहना है कि वह सिविल अस्पताल में जाकर पूछकर आए थे कि क्या मरीज को यहां लेकर आ सकते हैं तो उन्होंने कहा कि वह लुधियाना ही ले जाएं। गोरू के दोस्तों का आरोप है कि स्वाइन फ्लू को लेकर पंजाब सरकार पूरी तरह से फेल साबित हो रही है।
स्वाइन फ्लू के लक्षण
हल्का फ्लू या स्वाइन फ्लू में बुखार, खांसी, गले में खराश, नाक बहना, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द, ठंड और कभी-कभी दस्त और उल्टी के साथ आता है. हल्के मामलों में, सांस लेने में परेशानी नहीं होती है. लगातार बढ़ने वाले स्वाइन फ्लू में छाती में दर्द के साथ उपरोक्त लक्षण, श्वसन दर में वृद्धि, रक्त में ऑक्सीजन की कमी, कम रक्तचाप, भ्रम, बदलती मानसिक स्थिति, गंभीर निर्जलीकरण और अंतर्निहित अस्थमा, गुर्दे की विफलता, मधुमेह, दिल की विफलता, एंजाइना या सीओपीडी हो सकता है.’
Please follow and like us: