जालंधर : एलपीयू के विद्यार्थियों ने बनाई पहली चालक रहित सोलर बस

जालंधर, (PNL) : लवली प्रोफैशनल यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों ने सौर ऊर्जा से चलने वाली पहली चालक रहित बस तैयार की है। बस पूरी तरह से बनकर तैयार हो चुकी है और आगामी तीन जनवरी को एलपीयू में आयोजित हो रही इंडियन साइंस कांग्रेस में बतौर मुप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बस के प्रथम यात्री होंगे। मोदी इसी बस में सवार होकर इंडियन साइंस कांग्रेस समारोह स्थल तक जाएंगे।
वाणिज्यिक रूप से शुरू हो जाने के बाद इस बस का उपयोग हवाई अड्डों, हाउसिंग सोसायटीज, बड़े औद्योगिक संस्थानों और शिक्षण संस्थानों में किया जाएगा। इस बस को भारतीय भूगौलिक स्थितियों को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। मौजूदा बसों की तुलना में इस बस की कीमत 6 छह लाख रुपए होगी। चूंकि इसका इंजन बैटरी और पूरी तरह सौर ऊर्जा चालित है, इसलिए इसे चलाने पर न के बराबर खर्च आएगा। इस बस की अधिकतम रफ्तार 30 किमी प्रति घंटा होगी और इसमें एक समय में 10 से 30 लोग बैठ सकते हैं।
एलपीयू के चांसलर श्री अशोक मित्तल ने बताया कि यह चालक रहित बस इस बात का उदाहरण है कि एलपीयू के विद्यार्थी तकनीकी दृष्टि से कितने आगे हैं। एलपीयू के विद्यार्थियों द्वारा किये गये कुछ अन्य रोचक प्रोजेक्ट्स में फ्लाइंग फार्मर, फार्मूला वन कार और गो-काट्र्स आदि शामिल हैं। फ्लाइंग फार्मर एक वायरलैस सेंसर डिवाइस है जिसे विशेष रूप से कृषि एवं खेत के सर्वेक्षण में उपयोग किया जाता है।
इस बस को तैयार करने वाली टीम के प्रमुख मनदीप सिंह ने बताया कि यहां मकैनिकल, इलैक्ट्रीकल व कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के 300 से अधिक विद्यार्थियोंं ने एलपीयू के प्रोफेसर्स व विशेषज्ञों के मार्गदर्शन में परस्पर सहयोग से इस बस को डिजाइन किया है। इसे एलपीयू प्रोजैक्ट स्टूडियो में तैयार किया जा रहा है, जहां इस तरह के शोध एवं विकास के अन्य कार्य भी चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि एक बार चार्ज करने के बाद यह प्रदूषण रहित बस 60 से 70 किलोमीटर तक चलेगी। इस बस की ब्लू टुथ व जीपीएस सिस्टम से निगरानी भी की जा सकेगी।
Please follow and like us: