एससी स्टूडेंट फीस मामला : कॉलेज प्रबंधकों ने की एससी जत्थेबंदियों से कैप्टन सरकार पर दबाव बनाने की मांग

जालंधर, (PNL) : कन्फडरेशन ऑफ़ पंजाब अन-एडिड इंस्टीच्यूशन्स ने सभी एस.सी/एस.टी संस्थाओं और जत्थेबंदियों से अपील की वह उनके साथ आकर सरकार पर दबाव बनाए ताकि वह गरीब एस.सी छात्रों के सरकार द्वारा रिलीज़ किए जाते पी.एम.एस स्कीम के फण्ड रिलीज़ हो सके।
अध्यक्ष अनिल चोपड़ा ने कहा कि पिछले तीन सालों से फण्ड रिलीज़ ना होने के कारण 100 से अधिक कॉलेज बैंकों के पास एन.पी.ऐ हो चुके है और स्टाफ की वेतन 10 माह से रुकी हुई है। विपिन शर्मा और तरविंदर सिंह राजू ने कहा कि यह स्कीम सरकार द्वारा गरीब छात्रों की भलाई के लिए तैयार की गई थी लेकिन अब सरकार के फण्ड ना रिलीज़ होने से यह बात सामने आ रही है जिसे की सरकार छात्रों के भविष्य को अनदेखा कर रही है।
सेकेट्ररी विपिन शर्मा आदि मेंबर्स ने बताया कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के छात्रों को बाहर के राज्यों में पढाई करने के लिए जाते देख 2002-2007 में पंजाब में उनएडिड कॉलेजों की शुरुयात की थी, जिसमें पंजाब वासियों ने छात्रों को बेहतरीन शिक्षा देने का सपना देखते हुए 1000 करोड़ की इन्वेस्टमेंट इस प्रोजेक्ट में की।
जिसके परिणाम में अब छात्र बाहर के राज्यों से पंजाब में पढाई करने के लिए आना शुरू हो चुके है लेकिन जो पंजाब के गरीब एस.सी/एस.टी छात्रों है फण्ड रिलीज़ ना होने से पढ़ने में असमर्थ हो चुके है। उन्हें कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी देखे रेख में जो उनएडिड कॉलेजों को शुरू किया था अब उनके बारे में और गरीब छात्रों के बारे में सोचते हुए जल्द से जल्द फण्ड रिलीज़ करे।
Please follow and like us: