जालंधर : फीस नहीं भरी तो पेपर नहीं दे सकेंगे एससी छात्र, सरकार से सताई एसोसिएशन का बड़ा फैसला

जालंधर, (PNL) : एससी छात्रों की फीस का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सीबीएसई स्कूल एफिलेटिड एसोसिएशन ने बड़ा फैसला लिया है। एसोसिएशन के मुताबिक अगर एससी बच्चों ने अपनी जेब से कॉलेज को फीस नहीं भरी तो उन्हें परीक्षा में नहीं बैठने दिया जाएगा।
एसोसिएशन के चेयरमैन एवं सेंट सोल्जर ग्रुप के अनिल चोपड़ा, डिप्स ग्रुप के तरविंदर सिंह राजू, एजुकेशनिस्ट विपन शर्मा और संजीव चोपड़ा ने प्रैस वार्ता दौरान कहा कि पंजाब सरकार राज्य के कॉलेजों को स्कालरशिप के पैसे नहीं दे रहे हैं। ये पैसे 1000 करोड़ से भी ज्यादा है।
केंद्र सरकार की तरफ से पंजाब सरकार को पैसा आ चुका है, लेकिन पंजाब सरकार ऑडिट का बहाना लगाकर कॉलेजों को पैसा नहीं दे रहे। उनके मुताबिक पंजाबभर में 50 प्रतिशत से ज्यादा कॉलेजों में एससी स्टूडेंट है। अगर सरकार ने स्कालरशिप स्कीम चलानी है तो उन्हें कॉलेजों को पैसे भी समय पर देने चाहिए।
पैसे न आने के कारण कॉलेजों का बुरा हाल हो चुका है। कई कॉलेज बंद होने की कगार पर आ गए हैं। ऐसे में यही फैसला लिया गया है कि परीक्षा से पहले या तो सरकार कॉलेजों को पैसे दे या बच्चा खुद फीस भरे। अगर नहीं दिए गए तो उन्हें पेपर देने के लिए नहीं बैठने दिया जाएगा।
Please follow and like us: