1984 सिख विरोधी दंगों में कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार दोषी करार, पढ़ें

नई दिल्ली, (PNL) : 1984 के सिख विरोधी दंगे के एक मामले में सोमवार को दिल्ली हाइकोर्ट ने कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार को दोषी करार कर दिया है. सज्जन कुमार को अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. हालांकि निचली अदालत ने पहले सज्जन को बरी कर दिया था. पीड़ित पक्ष के अलावा सिख समुदाय के लाखों लोगों को इस फैसले के बेसब्री से इंतज़ार था.
बीते कई सालों से 1984 के सिख दंगों से जुड़ी फाइलों और दस्तावेजों के बीच उलझे आत्मा सिंह लुबाना के लिये सोमवार का दिन बेहद अहम था. लुबाना 1984 दंगों के मामलों में लंबे समय से पैरवी कर रहे थे और हर रोज कोर्ट जाते थे.
दंगे का ये मामला 5 लोगों की मौत से जुड़ा है. जब दिल्ली कैंट इलाके के राजपुर में 1 नवंबर 1984 को हज़ारों लोगों की भीड़ ने दिल्ली केंट इलाके में सिख समुदाय के लोगों पर हमला कर दिया था. इस हमले में एक परिवार के तीन भाइयों नरेंद्र पाल सिंह, कुलदीप और राघवेंद्र सिंह की हत्या कर दी गयी. वहीं एक दूसरे परिवार के गुरप्रीत और उनके बेटे केहर सिंह की मौत हो गयी थी.
Please follow and like us: