खुद को संत कहने वाले रामपाल को ताउम्र तक जेल में रहने की सजा, पढ़ें पूरा फैसला

नई दिल्ली, (PNL) : खुद को संत कहने वाले रामपाल को चार महिलाओं और एक बच्चे की हत्या के मामले में कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. केस नंबर 429 (चार महिलाओं और एक बच्चे की हत्या) में रामपाल को ये सजा सुनाई गई है. इसके साथ ही कोर्ट ने रामपाल पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है.
बता दें कि नवंबर 2014 में सतलोक आश्रम में पुलिस और रामपाल समर्थकों के बीच टकराव हुआ था. इस दौरान 5 महिलाओं और एक बच्चे की मौत हो गई थी. इसके बाद आश्रम संचालक रामपाल पर हत्या के दो मामले दर्ज किए गए थे. केस नंबर-429 (4 महिलाओं व एक बच्चे की मौत) में रामपाल सहित कुल 15 आरोपी थे.
हत्या के दो मामलों में रामपाल दोषी करार, हिसार में सुरक्षा कड़ीहत्या के दूसरे मामले यानी केस नंबर-430 (एक महिला की मौत) में रामपाल भी रामपाल को दोषी पाया गया है. इस मामले में रामपाल समेत 13 आरोपी थे. इस मामले में सजा का ऐलान बुधवार को होगा. रामपाल समेत छह लोग ऐसे थे जिन्हें दोनों ही मामलों में आरोपी बनाया गया था.
हिसार में कड़ी सुरक्षा
रामपाल की सजा को ऐलान को लेकर प्रशासन मुस्तैद है और चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात है. सुरक्षा के लिहाज से 30 ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं.हिसार में डीआईजी और आईजी सहित 6 आईपीएस अधिकारियों और डीएसपी के नेतृत्व वाली 10 टीम को नियुक्त किया गया है. वहीं दूसरे जिलों से फोर्स मंगाकर 1500 जवानों को भी तैनात किया गया है. रेलवे स्टेशन और बस अड्डे पर पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं. वहीं सुरक्षा के लिहाज से धारा 144 भी लागू रहेगी.
Please follow and like us:
error: Content is protected !!