आडवाणी के बाद बीजेपी ने काटा वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का टिकट, बगावत के संकेत

नई दिल्ली, (PNL) : लालकृष्ण आडवाणी की तरह भाजपा ने वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का एक तरह से टिकट काट दिया है। इस बीच जोशी का एक पत्र सुर्खियां बटोर रहा है। जोशी ने पत्र में लिखा- भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ने मुझे सलाह दी है कि कानपुर और उसके अलावा कहीं से भी मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए।
इसको लेकर उन्होंने संगठन महासचिव रामलाल से मुलाकात की। रामलाल ने जोशी से कहा कि पार्टी ने निर्णय लिया है कि आपको चुनाव नहीं लड़वाया जाए। पार्टी चाहती है कि आप पार्टी ऑफिस आकर चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान करें। इस पर जोशी शीर्ष नेतृत्व से नाराज हो गए। उन्होंने पार्टी कार्यालय आकर चुनाव न लड़ने का ऐलान करने से इनकार कर दिया। 2014 के लोकसभा चुनाव में जोशी ने कांग्रेस के श्रीप्रकाश जायसवाल को 2 लाख 22 हजार 946 वोटों से हराया था।
टिकट बदलने से नाराज हुए गिरीराज सिंह
वहं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को इस बार बिहार के बेगूसराय से टिकट दिया है। 2014 में वह नवादा से जीते थे। टिकट बदले जाने से गिरिराज प्रदेश के भाजपा नेताओं से नाराज हैं। उन्होंने कहा कि मेरे आत्मसम्मान को ठेस पहुंची है। मुझसे बिना पूछे ही सबकुछ तय कर दिया गया। बेगूसराय से मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन आत्मसम्मान से कोई समझौता नहीं करूंगा। हालांकि नाराजगी से इनकार करते हुए कहा कि पार्टी का समर्पित सिपाही था, हूं और रहूंगा। पार्टी जो जिम्मेवारी देगी, उसका पालन करूंगा।
Please follow and like us: