पहले कत्ल और अब सट्टेबाजी में फंसा जालंधर कार डीलर एसोसिएशन का प्रधान मुकेश सेठी, पढ़ें कत्लकांड की कहानी

जालंधर, (PNL) : आईपीएल की सट्टेबाजी में फंसा जालंधर कार डीलर एसोसिएशन का प्रधान मुकेश सेठी कत्ल केस का भी सामना कर चुका है। 2014 में सेठी के खिलाफ मर्डर का केस दर्ज हुआ था। सेठी पर चरण कमल उर्फ जान मल्ली की हत्या का आरोप था। पुलिस मुताबिक अर्बन एस्टेट फेज-2 स्थित सब-वे रेस्टोरेंट के बाहर 27 नवंबर, 2014 को बस्ती शेख के चाय आम मोहल्ला के जॉन मल्ली पर हमला किया गया था। दो दिन बाद जॉन मल्ली की मौत हो गई थी।
पुलिस ने कूल रोड पर एसआर मोटर्स के मालिक कृष्णा नगर के मुकेश सेठी, कबीर नगर के गैंगस्टर अनिल कुमार रॉकी, दादा कालोनी के सतीश कुमार उर्फ विक्की सईपुरिया और आबादपुरा के गगन अटवाल उर्फ बागी के खिलाफ कत्ल का केस दर्ज किया था। ये केस काफी देर तक अदालत में चला और फिर बाद में राजीनामा हो गया था। केस खत्म होने के बाद वह एसोसिएशन का प्रधान बन गया था।
सेठी और उसके साथियों के अकाउंट होंगे सीज
पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने बताया कि ये सभी कपूरथला से एक कोठी में सट्टेबाजी करके इनोवा और वरना कार पर घर लौट रहे थे। गाड़ी की तलाशी ली तो उनके पास से 18 मोबाइल, लैपटाप, मैकबुक और पैसे बरामद किए हैं। कमिश्नर ने बताया कि मुकेश सेठी इस सट्टेबाजी का किंगपिन था। उसने ही दिल्ली से लाइन ली थी। उसके माध्यम से वह क्रिकेट मैच पर सट्टेबाजी करवाता था। उन्होंने कहा कि सेठी और उसके साथियों के बैंक अकाउंट भी सीज करवाए जाएंगे।
इसके अलावा सेठी के साथ सट्टा लगाने वालों को भी ट्रेस किया जा रहा है। पुलिस उक्त पंटरों पर भी शिकंजा कसेगी। फिलहाल सट्टेबाजी केस में पकड़े गए आरोपियों में सेठी के अलावा मोहल्ला गोबिंदगढ़ का अतुल कुमार, गोबिंद नगर का सुमित नैय्यर, मधुबन कालोनी का अरुण शर्मा, हरदेव नगर का सुखपाल सिंह, बीटी कालोनी का कीर्ती गोस्वामी और कृष्ण नगर का प्रिंस पुरी शामिल है।
Please follow and like us: