बड़ी खबर : एमएस धोनी को बीसीसीआई ने किया टी-ट्वंटी सीरीज से आउट, पढ़ें क्यों लिया गया ये फैसला

स्पोर्ट्स डेस्क, (PNL) : भारतीय चयनकर्ताओं ने शुक्रवार को बेहद चौंकाने वाला फैसला लेते पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी को वेस्ट इंडीज के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज और आगामी ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए ट्वंटी-20 सीरीज से बाहर कर दिया। सीनियर राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने शुक्रवार रात करीब 12:30 बजे वेस्ट इंडीज के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज और टेस्ट सीरीज तथा भारत ए टीमों की घोषणा की। धौनी को बाहर करने का फैसला बेहद चौंकाने वाला फैसला रहा क्योंकि धोनी इस समय सिर्फ सीमित ओवरों की क्रिकेट खेल रहे हैं और वह वेस्ट इंडीज के खिलाफ मौजूदा वनडे सीरीज का हिस्सा हैं।
पहले ट्वंटी-20 विश्व कप में भारत को चैंपियन बनाने वाले धौनी को पहली बार टीम से हटाया गया है। 37 साल धोनी वेस्ट इंडीज और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नवंबर में होने वाली ट्वंटी-20 सीरीज का हिस्सा नहीं होंगे। धौनी को हटाने के पीछे तर्क देते हुए चयनकर्ता प्रमुख एमएसके प्रसाद का कहना है कि धोनी के लिए यह ट्वंटी-20 की समाप्ति नहीं है और चयनकर्ता विकेट के पीछे मजबूत विकल्प ढूंढ रहे हैं। इन दोनों सीरीज के छह मैचों के लिए ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को टीम में रखा गया है।
पूर्व कप्तान धौनी ने दिसंबर 2006 में अपना पदार्पण करने के बाद से भारत के खेले गए 104 T-20 मैचों में से 93 मैचों में भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं। इस दौरान उन्होंने 127.09 के स्ट्राइक रेट से 1487 रन बनाए हैं। और इस दौरान उनका एवरेज 37.17 का रहा है। इसके अलावा उन्होंने विकेट के पीछे 54 कैच लपके हैं और 33 स्टंपिंग की हैं।
एमएस धौनी आईपीएल का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं और सभी 11 सत्र में खेले हैं। उन्होंने इस साल अपनी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स को आईपीएल का चैंपियन बनाया था। अपने आईपीएल करियर में धौनी ने 175 मैच खेले हैं जिसमें 138 की स्ट्राइक रेट और 40 की एवरेज से 4016 रन बनाए है। इसके अलावा आईपीएल करियर में उन्होंने विकेट के पीछे 87 कैच लपके हैं और 33 स्टंपिंग की हैं। 2018 आईपीएस के बाद इंग्लैंड में ट्वंटी-20 टीम का हिस्सा रहे थे, हालांकि तीन मैचों में उन्हें एक बार ही बल्लेबाजी करने का मौका मिल पाया था।
Please follow and like us:
error: Content is protected !!