मोदी ने शिरडी के साईं मंदिर में टेका माथा, फिर देशवासियों को दी विजयदशमी की बधाई, पढ़ें क्या बोले पीएम


नई दिल्ली, (PNL) : शिरडी के साईं बाबा को समाधि लिए हुए आज 100 साल पूरे हो रहे हैं, इस मौके पर शिरडी में बड़ा कार्यक्रम किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए शिरडी के साईं मंदिर पहुंचे. प्रधानमंत्री मोदी ने यहां पर साईं की विशेष पूजा की, इस दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राज्यपाल विद्यासागर राव भी मौजूद रहे.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां मंदिर की विजिटर बुक में अपने विचार भी लिखे. प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर साईं बाबा की याद में चांदी का सिक्का जारी किया. इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के कई लाभार्थियों को घर की चाभी सौंपी. उन्होंने लाभार्थियों से बात की.
इस कार्यक्रम के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां एक रैली को संबोधित किया. PM ने अपने भाषण की शुरुआत मराठी भाषा में की. प्रधानमंत्री ने देशवासियों को यहां से विजयादशमी की बधाई दी, मेरी कोशिश रहती है कि हर त्योहार देशवासियों के साथ मनाऊं. प्रधानमंत्री ने यहां नए भवन, 159 करोड़ रुपये की लागत से विशाल शैक्षणिक भवन, ताराघर, मोम संग्रहालय, साईं उद्यान और थीम पार्क समेत प्रमुख परियोजनाओं का भूमिपूजन किया.
1918 में ली थी समाधि
शिरडी के साईं की प्रसिद्धि दूर दूर तक है और यह पवित्र धार्मिक स्थल महाराष्ट्र के अहमदनगर के शिरडी गांव में स्थित है. सभी समुदायों में पूजनीय साईंबाबा का देहावसान 1918 में दशहरा के ही दिन अहमद नगर जिले के शिरडी गांव में हुआ था. शिरडी के साईं बाबा का वास्तविक नाम, जन्मस्थान और जन्म की तारीख किसी को पता नहीं है. हालांकि साईं का जीवनकाल 1838-1918 तक माना जाता है.
पहला प्रोजक्ट – 40 करोड़ रुपये की लागत वाले 10 मेगावाट क्षमता के सोलर पावर सिस्टम का भूमि पूजन.
दूसरा प्रोजक्ट – 158 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला हाइटेक एजुकेशनल कंपलेक्स का उद्घाटन होगा जिसमें स्कूल, कॉलेज, ऑडिटोरियम, प्लेग्राउंड, लाइब्रेरी, लैबोरेट्री समेत अन्य स्टेट ऑफ द आर्ट सुविधाएं होंगी.
तीसरा प्रोजक्ट – 166 करोड़ रुपये की लागत वाला अनोखा साईं नॉलेज पार्क. इसमें साईं की जीवन से जुड़ी जानकारियां, म्यूजियम, थीम पार्क शामिल हैं.
चौथा प्रोजक्ट – शिरडी आने वाले साईं भक्तों को महज 1 घंटे में आरामदायक साईं दर्शन मिले, इसके लिए 112 करोड़ रुपये की लागत का ग्राउंड प्लस टू दर्शन हॉल का निर्माण किया जाएगा. इसकी मदद से एक बार में तकरीबन 18000 साईं भक्त कतार में खड़े होकर आसानी से दर्शन ले सकेंगे इस टर्मिनल को स्काईवॉक से सीधे समाधि मंदिर से जोड़ा जाएगा.
शिरडी में रोज चढ़ता है करोड़ों को चढ़ावा
शिरडी में हर साल करोड़ों की तादाद में श्रद्धालू दर्शन करने आते हैं. ऐसे में रुपया, पैसा, सोना, चांदी और कई बहुमूल्य चीजों का दान दिया जाता है. अगर आकड़ों की बात करें तो पिछले साल 22 दिसंबर से 25 दिसंबर के मौके पर साईं बाबा दरबार में साढ़े 5 करोड़ रुपए का दान दिया गया. जिसे गिनने में स्टाफ के पसीने छूट गए थे. बता दें, ये पांच करोड़ रुपये दान सिर्फ 4 दिनों में आए थे.
अब तक साईं के खजाने में 400 किलो सोना, साढ़े चार हज़ार किलो चांदी और 2 हज़ार करोड़ का फिक्स्ड डिपॉजिट पहले से है. साईं बाबा की भक्तों में ऐसी आस्था है, कि भक्त बाबा को मालामाल कर रहे हैं, उनपर करोड़ों लुटा रहे हैं. यही वजह है कि हर साल साईं के खजाने का नया रिकॉर्ड बनता है. शिरडी साईं बाबा को करीब डेढ़ करोड़ रुपये से ज्यादा रोजाना दान के रूप में मिलते हैं. इसी साल (2018) में शिरडी के साईं बाबा मंदिर को तीन दिन तक चले गुरु पूर्णिमा महोत्सव के दौरान 6.66 करोड़ रुपये का दान मिला था. जिसमें 438.650 ग्राम सोना और 9353 ग्राम चांदी शामिल था.
Please follow and like us:
error

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Punjabi News App, iOS Punjabi News App Read all latest India News headlines in Punjabi. Also don’t miss today’s Punjabi News.