विवादों में घिरा मोदी का ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत’ कार्यक्रम, हजारों कार्यकर्ताओं से आज मिलेंगे मोदी, विपक्ष ने कहा-देशहित जरुरी या राजनीति?

नई दिल्ली, (PNL) : भारत पाकिस्तान तनाव के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज मेरा बूथ सबसे मजबूत कार्यक्रम करने जा रहे हैं। मिशन 2019 के लिए पीएम देश भर के 15 हजार स्थानों पर एकत्र पार्टी कार्यकर्ताओं से विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करेंगे। एक करोड़ बीजेपी कार्यकर्ता नमो ऐप के माध्यम से पीएम मोदी के साथ जुड़ेंगे। बीजेपी इसे दुनिया की सबसे बड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंस बता रही है। बीजेपी का दावा है कि इस महासंवाद के जरिये प्रधानमंत्री प्रदेश के 1495 मंडलों के कार्यकर्ता सीधी बात करेंगे। देश के 14 हजार संगठनात्मक मंडलों व 986 जिलों एवं महानगरों के भाजपा कार्यकर्ता वांलिटियर्स और प्रमुख नागरिक मोदी से सीधे जुड़ेंगे।
प्रदेश मंत्री और कार्यक्रम प्रभारी त्रयम्बक त्रिपाठी ने बताया कि 28 फरवरी के संवाद में बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व सैनिक, अधिवक्ता, शिक्षक, डॉक्टर, वरिष्ठ नागरिक, महिलाएं और नागरिकों से संवाद करेंगे। बताया जा रहा है कि इसका सीधा प्रसारण बीजेपी के फेसबुक पेज, ट्वीटर हैंडल, यू-ट्यूब चैनल के कई एप प्लेयर्स के माध्यम से भी देखा जा सकता है और हिस्सा भी लिया जा सकता है।
लेकिन भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच पीएम मोदी के इस कार्यक्रम पर विपक्ष ने सवाल उठा दिए हैं। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने ट्वीट किया है कि देश जाबांज़, विंग कमांडर अभिन्दन की अविलंब सुरक्षित वापसी को व्याकुल है और प्रधान सेवक सत्ता वापसी को। साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि कांग्रेस ने आज होने वाली महत्वपूर्ण CWC बैठक व रैली को रद्द कर दिया है। देश और सब दल सशस्त्र सेनाओं के साथ हैं। लेकिन मोदी जी वीडियो कॉन्फ्रेंसिक का रिकॉर्ड बनाने को बेचैन हैं। वहीं अखिलेश यादव ने भी मोदी के इस फैसले को गलत ठहराया है।
Please follow and like us: