जालंधर : सात घंटे बाद भी चीता को पकड़ न सकी वन विभाग की टीम, अब अपनी गलती से खुद फंसेगा चीता, पढ़ें कैसे

जालंधर (PNL) : लम्मा पिंड के लोग वीरवार दोपहर से दहशत के साए में है। करीब एक बजे वहां चीता देखा गया था, जो रात आठ बजे तक पकड़ में नहीं आ सका। चीते ने आधा दर्जन से ज्यादा लोगों को घायल कर दिया है। करीब सात घंटे से वन विभाग की टीम चीता को पकड़ नहीं सकी है।
हैरत वाली बात ये है कि टीम के पास जाल और बेहोशी वाली गन के अलावा कोई और ऐसे उपकरण नहीं है, जिससे चीते को पकड़ा जा सके। कुल मिलाकर वन विभाग की टीम पूरी तरह से फ्लॉप साबित हुई है।
अब चीता अपनी गलती से पकड़ा जा सकेगा। वो कैसे, ये हम आपको बताते हैं। दरअसल चीता छत से भागते हुए एक बंद घर में जा घुसा है। उस घर को बाहर से ताला लगा हुआ है और घर में कोई नहीं है। चीता छत की सीढ़ियों के रास्ते उस घर में घुसा। उन सीढ़ियों के रास्ते को टीम ने बंद कर दिया है।
सीढ़ियों के अलावा चीता किसी रास्ते से बाहर नहीं आ सकता। अब टीम उस घर की एक दीवार पर अलग-अलग छेद कर रही है, ताकि फिर वह उससे चीते पर बेहोशी की गोलियां मार सके। इसके अलावा चंडीगढ़ से भी टीम पहुंच रही है। उम्मीद की जा रही है कि कुछेक घंटों में अब चीता पकड़ा जा सकेगा।
Please follow and like us: