पुलवामा हमले के बाद पिटने के डर से कश्मीर लौट रहे छात्रों को गुरुद्वारे में मिली शरण, पढ़ें

चंडीगढ़, (PNL) : आतंकी हमले के बाद भय और परेशानी से गुजर रहे कश्मीर मूल के छात्रों के लिए सिख समुदाय सेवाभाव के साथ आगे आया है। मोहाली जिले के सोहना स्थित गुरुद्वारा सिंह शहीदां में इन छात्रों को शरण दी गई है, जहां उन्हें खाना और रहने की जगह दी गई है। सभी छात्र खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।
इन कश्मीरी छात्रों में ज्यादातर उत्तराखंड में पढ़ते हैं और पुलवामा में आतंकी हमले के बाद कुछ जगह कश्मीरी छात्रों के साथ घटी घटनाओं के बाद भय में आने के बाद इन्होंने पंजाब का रुख किया था और सोहना के उक्त गुरुद्वारा तक पहुंच गए थे। इससे पहले भी सैकड़ों छात्र देहरादून से अंबाला पहुंचे और यहीं से कश्मीर में अपने-अपने घर को लौट गए।
अंबाला में गुरुद्वारा के प्रबंधकों ने तुरंत छात्रों को शरण दी। शरण लेने वाले कश्मीरी छात्रों ने बताया कि वे यहां आने के बाद काफी सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। गुरुद्वारा प्रबंधन की ओर से इनके खाने-पीने और रहने-सहने की व्यवस्था की गई है। इधर मोहाली जिला प्रशासन और पुलिस भी इनकी सुरक्षा में जुटी हुई है। गुरुद्वारा द्वारा इन छात्रों की मदद का असर यह पड़ा कि कुछ अन्य समाज सेवी और धार्मिक संस्थाएं भी सेवा के लिए आगे हाथ बढ़ा रही हैं।
Please follow and like us: