सिद्धू की मेहनत रंग लाई, करतारपुर साहिब के कॉरिडोर खोलेगी पाकिस्तान सरकार

नई दिल्ली, (PNL) : गुरुनानक देवजी के 550वें प्रकाश पर्व पर देश और दुनिया में मौजूद सिखों के लिए बड़ी खबर आ रही है। इसके अनुसार पाकिस्तान ने प्रकाश पर्व पर करतार साहिब कॉरिडोर खोलने का फैसला किया है। हालांकि, इसे लेकर भारत सरकार ने पुष्टि नहीं की है और कहा है कि इस बाबत कोई प्रस्ताव फिलहाल भारत सरकार के पास नहीं पहुंचा है।
पाकिस्तानी मीडिया द्वारा पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी के हवाले से दी गई खबरों के अनुसार पाकिस्तान गुरुनानक देवजी के प्रकाश पर्व पर करतारपुर साहिर कॉरिडोर श्रद्धालुओं के लिए खोल देगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ शांति वार्ता चाहता है लेकिन भारत ने अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।
बता दें कि इमरान खान के शपथ ग्रहण में गए पंजाब सरकार के मंत्री नवोजत सिंह सिद्धू से बातचीत के दौरान कॉरिडोर खोलने की बात कही थी। हालांकि, सिद्धू के इस दौरे को लेकर खूब विवाद हुआ था। इसके बाद अब पाक सरकार का यह फैसला सिद्धू के पक्ष में जाता नजर आ रहा है।
क्या होगा फायदा
करतारपुर कॉरीडोर खुलने का मतलब है कि भारतीय श्रद्धालु पाकिस्तान के करतारपुर साहिब में दर्शन के लिए जा सकेंगे. इसके लिए वीजा की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. भारत और पाकिस्तान के करतारपुर के बीच महज तीन किलोमीटर की दूरी है, इस दूरी को पार करने के लिए सिख श्रद्धालुओं को कड़ी मशक्कत करनी पड़ती थी.
नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान दौरे को लेकर भले विवाद हुआ हो लेकिन उन्होंने पाकिस्तान ने इस कॉरीडोर को खोलने के लिए बड़ी बैटिंग की थी. करतारपुर कॉरीडोर का खुलना सिख कौम की आस्था की जीत मानी जा रही है. बात दें कि सिद्धू ने जनरल बाजवा से गले मिलने को कभी गलत नहीं बताया. सिद्धू ने कहा था कि अगर करतारपुर कॉरीडोर खुलता है तो मैं किसी के भी पांव पड़ सकता हूं.
Please follow and like us: