एशिया कप का सबसे बड़ा मैच आज, आमने-सामने होंगी भारत और पाकिस्तान की टीमें, महामुकाबले का मंच तैयार, पढ़ें

नई दिल्ली, (PNL) : हाईवोल्टेज मुकाबले के लिए इंतजार की घड़ियां खत्म हुईं। एशिया कप में आज भारत अपने पड़ोसी और परंपरागत प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के सामने होगा। भारतीय समयानुसार मैच शाम पांच बजे शुरू होगा। इससे पहले दोनों टीमें 15 माह पहले चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भिड़ी थीं जिसमें पाकिस्तान ने 180 रन से बाजी मारी थी।
पाकिस्तान की टीम हांगकांग के खिलाफ आठ विकेट से जीत दर्ज करने में सफल रही है लेकिन पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद मानते हैं कि भारत को हराने के लिए टीम को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। पिछले आठ वर्षों में भारतीय टीम अपने चिर-प्रतिद्वंद्वी पर भारी रहा है।
तब से दोनों टीमों के बीच 11 मुकाबले हुए हैं जिनमें से भारत ने सात जीते हैं जबकि चार में पाकिस्तान को जीत मिली है। अगर एशिया कप की बात की जाए तो भारत ने छह बार पाक पर जीत हासिल की है जबकि पाकिस्तान की टीम पांच बार भारत के खिलाफ जीत दर्ज कर पाई है।
इस टूर्नामेंट में भारत के नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम दिया गया है और रोहित शर्मा की अगुआई में मुख्य केंद्र इस बात पर होगा कि विराट की अनुपस्थिति में भारतीय बल्लेबाज पाकिस्तान की पेस बैटरी का कैसे सामना करते हैं। खासतौर पर बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर का। इसके अलावा भी टीम में उस्मान खान, जुनैद खान और हसन अली शामिल हैं। उस्मान ने हांगकांग के खिलाफ मैच में तीन विकेट लिए थे।
टीम इंडिया को रोहित शर्मा और शिखर धवन की अपनी सलामी जोड़ी से बड़ी उम्मीदें होंगी। रोहित शर्मा की गिनती वनडे प्रारूप में दुनिया के श्रेष्ठ बल्लेबाजों में होती है। हिटमैन रोहित के कंधे पर ओपनर और कप्तान के रूप में दोहरी जिम्मेदारी है।
हालांकि वह पहले भी कप्तानी का दायित्व संभाल चुके हैं। आईपीएल में मुंबई इंडियंस को उनके नेतृत्व में खिताबी सफलताएं मिली हैं। हांगकांग के खिलाफ पहले मैच में वह बड़ी पारी नहीं खेल पाए लेकिन पाक के खिलाफ वह कसर पूरी करना चाहेंगे।
विश्व कप से पहले एशिया कप अंतिम बहुदेशीय टूर्नामेंट है। ऐसे में टीम इंडिया अपने टीम संयोजन को भी आजमाना चाहती है। हांगकांग के खिलाफ टीम में वापसी करने वाले अंबाती रायडू को तीसरे क्रम पर उतारा गया।
इसी तरह केदार जाधव, दिनेश और मनीष पांडेय को मध्यक्रम में उपयोगी भूमिका निभाने की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। मध्यक्रम तय नहीं है। ऐसे में टीम प्रयोगों के दौर से गुजर रही है। रोहित कह भी चुके हैं कि नंबर चार और छह पर नियमित बल्लेबाजों की तलाश अभी जारी है।
Please follow and like us: