अमेरिका में भारतीयों को हिरासत में लेने पर भारत ने किया विरोध, जारी किया ‘डिमार्शे’

नई दिल्ली, (PNL) : भारत ने अमेरिका में भारतीय छात्रों को हिरासत में लिए जाने को लेकर आपत्ति दर्ज की है. वहीं भारत ने इस संबंध में अमेरिकी दूतावास को ‘डिमार्शे’ जारी किया है. साथ ही भारत ने छात्रों तक राजनयिक पहुंच की मांग भी की है. ऐसे में भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत इस हालात पर करीब से नजर रख रहा है और इस स्थिति का हल निकालने के लिए कदम भी उठा रहा है.
बता दें कि अमरिका में इन छात्रों को एक ‘फर्जी’ विश्वविद्यालय में दाखिला लेने को लेकर हिरासत में लिया गया था. इस मामले में करीब 130 विदेशी छात्रों को हिरासत में लिया गया है, जिसमें भारतीय छात्र भी शामिल है. अमेरिका में सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने यह कार्रवाई की है.
भारत की ओर से ‘डिमार्शे’ जारी होने के बाद अमेरिकी दूतावास के एक प्रवक्ता ने बताया है, ‘हम यह पुष्टि कर सकते हैं कि इस हफ्ते अमेरिका में भारतीय नागरिकों को हिरासत में लिए जाने के संबंध में विदेश मंत्रालय से एक डिमार्शे मिला है.’ दूसरी ओर, भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हमारी चिंता छात्रों की गरिमा और उनकी सेहत को लेकर है. हिरासत में लिए गए छात्रों तक भारतीय अधिकारियों की तुरंत राजनयिक पहुंच की जरूरत है.
क्या होता है डिमार्शे?
बता दें कि ‘डिमार्शे’ सरकार या किसी संगठन के अधिकारी को दिया जाता है और आमतौर पर यह किसी विदेशी सरकार से जानकारी प्राप्त करने, उसे सूचित करने या कोई आपत्ति दर्ज करने के लिए भेजा जाता है. सरकार किसी विदेशी सरकार की ओर से किए कार्य को लेकर आपत्ति करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकती है.
साथ ही विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा है कि ऐसा हो सकता है कि छात्रों के साथ ठगी हो, इसलिए उनके साथ कोई भी गलत व्यवहार नहीं होना चाहिए. भारत ने अमेरिका से आग्रह भी किया है कि भारतीय छात्रों को जल्द से ज्लद छोड़ा जाए. मंत्रालय ने कहा कि अब तक हमारे अधिकारी करीब 30 भारतीय छात्रों से संपर्क कर पाए हैं और अन्य विद्यार्थियों से भी संपर्क किया जा रहा है.
मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, हिरासत में लिए गए भारतीय छात्रों की सहायता या पूछताछ के लिए वाशिंगटन में भारतीय दूतावास में 24/7 हेल्पलाइन शुरू की गई है. हेल्पलाइन के नबंर +1-202-322-1190 और +1-202-340-2590 हैं तथा ईमेल का पता cons3.washington@mea.gov.in है.
Please follow and like us: