फिर शुरू हुआ गुर्जर आंदोलन, रेल पटरियों पर बैठे सैंकड़ों गुर्जर, 7 ट्रेन रद्द, 21 प्रभावित

जयपुर, (PNL) : आरक्षण की मांग को लेकर शुक्रवार को गुर्जर समुदाय ने फिर अपना आंदोलन शुरू कर दिया है. आंदोलनकारी दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर बैठ गए हैं जिससे 7 ट्रेनें रद्द हुई हैं और कुल 21 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. गुर्जर समुदाय राजस्थान में नौकरी और एडमिशन में पांच फीसदी आरक्षण की मांग कर रहा है.
सवाई माधोपुर के मकसुदनपुरा में आंदोलनकारी रेलवे ट्रैक पर बैठ गए हैं. आंदोलकारियों ने कहा कि जब देश में अच्छा प्रधानमंत्री और प्रदेश में अच्छा मुख्यमंत्री है, तो उनसे आग्रह है कि वे गुर्जर समुदाय की मांग सुनें क्योंकि उनके लिए आरक्षण मुहैया कराना कोई बहुत बड़ा काम नहीं है.
उधर आरक्षण की मांग को लेकर रेल पटरी पर बैठे बुजुर्गों से बातचीत के लिए राजस्थान सरकार ने तीन मंत्रियों की एक टीम बनाई है. टीम के नेता आज (शनिवार) गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से बातचीत करेंगे. इस टीम में पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, समाज कल्याण मंत्री भंवर लाल मेघवाल और रघु शर्मा को शामिल किया गया है. आईएएस अधिकारी नीरज के पवन को भी कर्नल बैंसला से बातचीत के लिए भेजा जा रहा है.
इससे पहले शुक्रवार को कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा, “हम अपने समुदाय के लिए उसी तरह पांच फीसदी आरक्षण चाहते हैं, जिस तरह केंद्र सरकार ने आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का प्रावधान किया है. सरकार की ओर से हमारी मांग पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है. कोई हमसे बातचीत करने भी नहीं आया है, इसलिए हमें मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा है.”
इससे पहले शुक्रवार को गुर्जर संघर्ष समिति (जीएसएस) के सदस्यों ने एक महापंचायत बुलाई थी. इसके बाद जीएसएस के सदस्य सवाई माधोपुर के पास मलारना डुंगर रेलवे स्टेशन पहुंचे और ट्रेनों की आवाजाही रोक दी. इस रूट की मशहूर ट्रेन अवध एक्सप्रेस बाधित हुई और कई मालगाड़ियां सवाई माधोपुर में रोक दी गईं.
Please follow and like us: