गर्ल्स हॉस्टल में घुसकर लड़कियों को पीटने पर सुप्रीम कोर्ट ने जताई चिंता, कहा-ये कैसा भारत

नई दिल्ली, (PNL) : बिहार के सुपौल में मनचलों द्वारा गर्ल्स हॉस्टल में घुसकर करीब 34 लड़कियों को पीटने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जाहिर की है। बिहार मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ‘सभी अखबारों में आ रही खबरें अच्छी नहीं हैं। 34 लड़कियों को इसलिए पीटा गया क्योंकि वह उनके साथ हो रही छेड़खानी का विरोध कर रही थीं। बच्चों के साथ कोई ऐसा बर्ताव कैसे कर सकता है? इस तरह के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं, ये कैसा भारत है।
आपको बता दें की छेड़छाड़ का विरोध करने पर बिहार में सुपौल के त्रिवेणीगंज स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय स्कूल के मैदान में शनिवार की शाम खेल रही छात्राओं पर लड़कों ने अभिभावकों के साथ मिलकर हमला बोल दिया। लाठी-डंडे से लैश महिला-पुरुष हमलावरों ने छात्राओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।
छात्राओं को बचाने आयी वार्डन और शिक्षिकाओं को भी नहीं बख्शा गया। लड़कियां और शिक्षिकाएं जैसे-तैसे ग्रिल के अंदर गयीं और तब उनकी जान बची। बदमाशों के हमले में तीन महिला सहित तीन दर्जन से अधिक छात्राएं घायल हो गई थी। जिन्हें त्रिवेणीगंज अनुमंडलीय अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।
Please follow and like us:
error: Content is protected !!