दिवाली पर पूरे देश में बिक सकेंगे पटाखे, सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

नई दिल्ली, (PNL) : इस बार दिवाली पर पूरे देश में पटाखे जलेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने इस सिलसिले में बड़ा आदेश देते हुए साफ कहा है कि इस साल दिवाली पर पटाखे पर रोक नहीं रहेगी। सुप्रीम कोर्ट ने इस सिलसिले में सरकारों के दिशा निर्देश भी जारी किए हैं। इसके तहत कम एमिशन वाले पटाखों को ही इजाजत मिली है और सिर्फ लाइसेंसधारी वाले ही पटाखे बेचे जा सकेंगे। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि दिवाली की रात 8 बजे से 10 बजे तक ही पटाखे जलाएं जा सकेंगे। साथ ही सुप्रीमकोर्ट ने अपने आदेश में पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर भी रोक लगा दी गई है। कोर्ट ने कहा कि ऑनलाइन बेचने पर अवमानना माना जाएगा।
पहली बड़ी बात
पटाखा कारोबारियों को डर था कि अगर सुप्रीम कोर्ट से उनके खिलाफ फैसला आया तो धंधा चौपट हो जाएगा. सुप्रीम कोर्ट सभी पटाखा विक्रेताओं को राहत जरूर दी है. कोर्ट ने कहा है कि कम प्रदूषण वाले पटाखे ही बनाए और बेचे जाएंगे. तय डेसीबल मानक वाले पटाखे ही बेचे जा सकते हैं. सिर्फ लाइसेंस धारक ही पटाखों की बिक्री कर सकते हैं.
इसके साथ ही कोर्ट ने पटाखों की ऑनलाइन बिक्री पर रोक लगा दी है. दरअसल पिछले साल जब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली एनसीआर में पटाखों की बिक्री के पर रोक लगाई थी. उस दौरान ऑनलाइन पटाखों की जमकर बिक्री हुई थी, सुनवाई के दौरान कोर्ट के सामने यह बात उठाई गई.
दूसरी बड़ी बात
पटाखों के उत्पादन पर भी सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं. कोर्ट ने कहा है कि सिर्फ लाइसेंस धारक ही पटाखों का बना सकते हैं. इसके साथ ही कम वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण बनाने के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही शहर के बाहर ही खुले मैदान में पटाखे बेचे जाएं.
तीसरी बड़ी बात
पटाखे जलाने पर भी सुप्रीम कोर्ट ने शर्तों के साथ इजाजत दी है. कोर्ट ने दीवाली पर रात आठ से दस बजे तक ही पटाखे जलाने की इजाजत दी है. इसके अलावा न्यू ईयर और क्रिस्मस पर सिर्फ बीस मिनट (रात 11.55 से लेकर 12.15 बजे तक) की पटाखे चलाने की इजात दी गई है. कोर्ट ने कहा है कि संभव को किसी एक खुले स्थान पर समुदाय के लोग इकट्ठे होकर पटाखे चलाएं.
Please follow and like us: