दिल्ली के होटल अर्पित पैलेस में बड़ी आग, 17 लोगों की मौत, 35 लोग बचाए गए, पढ़ें

नई दिल्ली, (PNL) : राजधानी दिल्ली के करोलबाग में स्थित होटल अर्पित पैलेस में मंगलवार तड़के भयानक आग लग गई. आग से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है. हादसा तब हुआ जब लोग होटल में सो ही रहे थे तो शॉर्ट सर्किट से आग लगी और फैलती चली गई. शुरुआत में तो आग दूसरे फ्लोर पर थी, लेकिन उसके बाद तीसरे और चौथे फ्लोर पर भी आग फैली. शुरुआती जांच में सामने आया है कि होटल की लापरवाही के कारण ही आग फैली और मौत का आंकड़ा बढ़ता चला गया.
दिल्ली के होटल अर्पित पैलेस आग बुझाने पहुंचे अग्निशमन अधिकारी की मानें तो होटल में अधिकतर काम लकड़ी से हुआ था. यही कारण रहा कि आग फैलती चली गई और पूरा होटल धुएं के गुबार से भर गया. अधिकारी के मुताबिक, ना सिर्फ फ्लोर की गैलरी बल्कि सीढ़ियों के पास भी लकड़ी का कवर लगा हुआ था.
उन्होंने बताया कि लकड़ी होने के कारण आग फैलती चली गई. इसके अलावा सीढ़ियां काफी संकरी थीं, जिसकी वजह से किसी भी व्यक्ति का तेजी से उतरना इतना आसान नहीं था. मौके पर मौजूद अधिकारियों के मुताबिक, काफी लोगों की मौत धुएं की वजह से दम घुटने की वजह से हुई. जबकि दो लोगों ने ऊपरी मंजिल से छलांग लगा ली थी, इस वजह से उनकी मौत हुई.
बता दें कि दिल्ली के करोल बाग में स्थित अर्पित पैलेस होटल में तड़के सुबह आग लग गई थी. इस हादसे में एक ही परिवार के 7 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी. बताया जा रहा है कि आग इतनी भयानक थी कि होटल के 40 कमरे जलकर खाक हो गए थे.
अग्निशमन अधिकारियों के मुताबिक, होटल की पांच मंजिला इमारत से कम से कम 35 लोग निकाले गए. दिल्ली दमकल विभाग के मुख्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि करोलबाग के अर्पित पैलेस होटल से सुबह 4.30 बजे फोन आया जिसके तुरंत बाद दमकल की 25 गाड़ियां घटनास्थल पर भेजी गईं.
आपको बता दें कि दिल्ली के करोलबाग में स्थित ये होटल अर्पित पैलेस करीब 25 साल पुराना है. इसके मालिक का नाम राकेश गोयल बताया जा रहा है. पुलिस इस समय हर पहलू से इस अग्निकांड की जांच पड़ताल कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस अग्निकांड को लेकर दुख जताया है. उन्होंने मृतकों के परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है.
Please follow and like us: