गर्व : जिस थाने में सिपाही है पिता, वहां बेटा बना SP, क्या अब करेंगे सैल्यूट, पढ़ें

लखनऊ, (PNL) : एक पिता हमेशा अपने बेटे को आशीर्वाद देता है, लेकिन जब एक पिता अपने बेटे को सैल्यूट करे तो उसे ज्यादा फख्र महसूस होता होगा. ऐसा ही कुछ होने जा रहा है उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में, जहां एक कांस्टेबल पिता अपने आईपीएस बेटे को गर्व से सैल्यूट करेगा. दरअसल यह कहानी है आईपीएस अनूप कुमार सिंह की, जिनका ट्रांसफर अब लखनऊ में हो गया है और उनके क्षेत्र में वो थाना आता है, जहां उनके पिता जनार्दन सिंह कांस्टेबल के पद पर तैनात हैं. लखनऊ पोस्टिंग होने के बाद जनार्दन सिंह अपने बेटे के अंडर में काम करेंगे.
स्थानीय अखबारों की रिपोर्ट के अनुसार कांस्टेबल जनार्दन सिंह गर्व से कहते हैं, मैं ऑन ड्यूटी अपने कप्तान को सैल्यूट करूंगा. वहीं बेटे अनूप सिंह ने कहा, फर्ज निभाने के लिए मैं प्रोटोकॉल का पालन करूंगा. अनूप सिंह ने बताया, उन्होंने अपने पिता से फर्ज और संस्कार सीखे हैं. बता दें कि लखनऊ आने से पहले वो गाजियाबाद, नोएडा और उन्नाव में एएसपी रह चुके हैं. उन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से गेजुएशन किया था और उसके बाद JNU से पढ़ाई की.
जेएनयू में पढ़ाई के बाद अनूप ने सिविल सर्विसेज की तैयारी की और पहली बार में ही उन्होंने यूपीएससी सिविल सर्विसेज की परीक्षा पास की. उसके बाद वे आईपीएस बने. जनार्दन सिंह मूल रूप से बस्ती के नगर थाना क्षेत्र के पिपरा गौतम गांव के रहने वाले हैं. नौकरी के सिलसिले में अलग-अलग जिलों में रहे. बेटे की प्रारंभिक शिक्षा बाराबंकी से हुई है.
रिपोर्ट्स के अनुसार जेएनयू में अच्छे अंक पाने पर अनूप को स्कॉलरशिप मिलती थी और अपने सीमित खर्च के चलते मना करने के बाद भी वह स्कॉलरशिप के रुपये भी घर भेज देते थे. अब वह सरकारी बंगले में रहेंगे
Please follow and like us:
error: Content is protected !!