पंजाब में भी मोबाइल एप से चुने जाएंगे कांग्रेस के उम्मीदवार, शुरू हो गया सर्वे

चंडीगढ़, (PNL) : लोकसभा चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस इस बार हर तरह के प्रयास कर रही है। इसी के चलते कांग्रेस उम्मीदवारों को चुनने के लिए एक एप्प का  इस्तेमाल सल रही है। यानि कि कांग्रेस के उम्मीदवार इस बार शक्ति मोबाइल एप से चुने जाएंगे। लोगों से मिलने वाले फीडबैक के आधार पर ही पार्टी कैंडिडेट का फैसला करेगी। इसके लिए पहले चरण में तीन लोकसभा हलकों आनंदपुर साहिब, जालंधर और संगरूर में कॉलिंग का काम शुरू हो गया है।
इसके बाद अन्य हलकों को कवर किया जाएगा। कांग्रेस ने कुछ माह पहले ही शक्ति एप पर ज्यादा से ज्यादा लोगों का रजिस्ट्रेशन करवाने को मुहिम चलाई थी। हर हलके में कई हजार लोगों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। उनका डाटा पार्टी के पास आ चुका है। अब उनसे फीडबैक लेने का काम शुरू किया गया है।
इसके तहत हर लोकसभा हलकों में पांच हजार लोगों से उम्मीदवार के बारे में राय पूछी जाएगी। जो जवाब संतोषजनक नहीं होंगे, वे सर्वे में शामिल नहीं किए जाएंगे। यह सारा डाटा बंगलूरू में बनाए गए खास वार रूम में सेव किया जाएगा। इसके लिए कई नेशनल कोआर्डिनेटर बनाए गए हैं। पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा की जिम्मेदारी कमल कांत शर्मा को दी गई है। अभी ये वक्त ही बताएगा कि क्या वाकई में शक्ति एप से उम्मीदवार चुने गए या नहीं।
इन सवालों पर आधारित है सर्वे
सर्वे के लिए आने वाली कॉल्स में लोगों से पूछा जा रहा है कि वह किसे उम्मीदवार चाहते हैं और क्यों। क्या वह सामाजिक है, शिक्षित है या कोई एनजीओ चला रहा है। जहां मौजूदा सांसद कांग्रेस के हैं, वहां पूछा जा रहा है कि मौजूदा सांसद को क्यों नहीं चाहते। क्या वह लोगों से मिलता नहीं हैै, उसका व्यवहार ठीक नहीं है या वह भ्रष्ट है।
इन राज्यों में सफल रहा था प्रयोग
कांग्रेस ने राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में शक्ति मोबाइल एप का प्रयोग किया था। तीनों राज्यों में उम्मीदवारों का फैसला इसी सर्वे के आधार पर किया गया था। जिसके दम पर तीनों राज्यों में पार्टी की सरकार बनी। बाद में सीएम का फैसला भी इसी फीडबैक के जरिए किया गया था।
Please follow and like us: