नाराज चल रहे बीजेपी सांसद ने असली चौकीदार को थमाया अपना इस्तीफा, सपा में हुए शामिल

नई दिल्ली, (PNL) : उत्तर प्रदेश के हरदोई से बीजेपी के सांसद अंशुल वर्मा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. बुधवार को अंशुल वर्मा ने बीजेपी पर तंज कसते हुए अपना इस्तीफा बीजेपी अध्यक्ष को सौंपने के बजाय प्रदेश पार्टी दफ्तर के चौकीदार को सौंपा. लोकसभा चुनाव में हरदोई संसदीय सीट से बीजेपी ने अंशुल वर्मा का टिकट काटकर जय प्रकाश रावत को उम्मीदवार बनाने का ऐलान किया जिसके चलते वो नाराज चल रहे थे और बीजेपी के खिलाफ बगावती तेवर अख्तियार कर रखा था. कुछ ही घंटे के भीतर समाजवादी पार्टी में वे शामिल भी हो गए.
हरदोई संसदीय सीट से टिकट कटने के बाद से नाराज अंशुल वर्मा ने लंबा चौड़ा पत्र लिखते हुए बीजेपी पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि वह 21 साल से पार्टी के साथ जुड़े हुए हैं. ऐसे में पार्टी ने उनका टिकट काट दिया है. बीजेपी छोड़ने के कुछ ही घंटे के अंदर वह अखिलेश यादव की उपस्थिति में समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए.
अंशुल वर्मा ने कहा कि हमें लगता है कि पार्टी ने गहरा मंथन और विचार-विमर्श करने के बाद टिकट का निर्णय लिया होगा. बीजेपी ने 6 में से 4 दलित सांसदों का टिकट काटा ये चौंकाने वाला विषय है. क्या दलित सांसद ही एक मात्र ऐसे सांसद हैं जिन्होंने विकास का कार्य नहीं किया है, या विकास की कसौटी पर खरे नहीं उतरे हैं.
Please follow and like us: