पाकिस्तान का पकड़ा गया झूठ, भारत ने F-16 को मार गिराने के अमेरिका को दिखाए सबूत

नई दिल्ली, (PNL) : भारतीय वायुसेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया है। अमेरिका के एक मैगजीन ने यह दावा किया था कि 27 फरवरी को पाकिस्तान ने भारत के सीमा में F-16 नहीं भेजा था। इसलिए भारत ने किसी भी F-16 विमान को नहीं गिराया है। भारतीय वायुसेना ने अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि भारतीय वायुसेना के पास न केवल विश्वसनीय साक्ष्य हैं जो साबित करते हैं कि पाकिस्तान ने अमेरिकी फाइटर प्लेन F-16 का इस्तेमाल किया था बल्कि वायुसेना की जवाबी कार्रवाई में मिग-21 से F-16 के मार गिराने के भी सबूत हैं।
भारतीय वायुसेना ने एक बयान जारी कर कहा है कि 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने बालाकोट स्थित जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी शिविर को तबाह किया था। भारत को जैश के ट्रेनिंग की खुफिया जानकारी मिली थी। भारत की यह सैन्य कार्रवाई नहीं थी। एयरफोर्स के मुताबिक पाकिस्तान के फाइटर प्लेन ने भारत के सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी लेकिन वो असफल रहे थे। 27 फरवरी को पाकिस्तानी वायु सेना अपने फाइटर जेट से भारत में बम गिराए थे लेकिन वो कोई भी नुकसान पहुंचाने में नाकाम रहे थे।
अमेरिका के एक मैगजीन ने यह दावा किया था कि पाकिस्तान के सभी F-16 लड़ाकू विमान सुरक्षित मौजूद हैं। ये विमान पाकिस्तान ने अमेरिका से खरीदे थे। अमेरिका की पत्रिका फॉरेन पॉलिसी ने अमेरिकी सुरक्षा अधिकारियों के हवाले से दावा किया है कि 27 फरवरी को भारत की ओर से एक अमेरिकी F-16 विमान को मार गिराने का दावा गलत हो सकता है।” इससे पहले भारतीय थल सेना, वायु सेना और नौसेना ने एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के F-16 के मार गिराने के सबूत पेश किए थे। सेना ने बताया था कि भारतीय सीमा में पाकिस्तान का फाइटर प्लेन एफ-16 आया। सेना ने एफ-16 में लगने वाले मिसाइल के टुकड़े भी मीडिया को दिखाए थे।
Please follow and like us: