आसमान से बरस रही आग, लू की चपेट में पंजाब समेत पूरा उत्तर भारत, पढ़ें गर्मी से बचने के उपाय

नई दिल्ली, (PNL) : उत्तर से लेकर दक्षिण तक और पहाड़ से लेकर मैदान तक देश के कई राज्य भीषण गर्मी की मार झेल रहे हैं. जम्मू, पंजाब, राजस्थान समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों लू की चपेट में है. राजधानी दिल्ली-एनसीआर में जहां पारा 47 डिग्री को छू रहा है वहीं राजस्थान के श्रीगंगानगर में तो 75 साल का रिकॉर्ड टूट रहा है यहां पारा 50 डिग्री के करीब पहुंच रहा है. मौदानी इलाकों में गर्मी पड़ने पर लोग पहाड़ों का रुख करके हैं लेकिन पहाड़ों की हालत भी अच्छी नहीं है. हिमाचल की राजधानी शिमला में कल मौसम का सबसे गर्म दिन रहा. यहां अधिकतम तापमान 32 डिग्री रिकॉर्ड किया गया. शिमला के जंगल भी इन दिनों धू-धू करके जल रहे हैं.
दिल्ली-एनसीआर का हाल
राजधानी दिल्ली और एनसीआर में भी पारा 45 डिग्री के ऊपर ही चल रहा है. कल दिल्ली में अधिकतम तापमान 47 डिग्री रहा. मौसम विभाग ने दिल्ली एनसीआर के लिए रेड कलर वार्निंग जारी की है. रेड कलर वार्निंग चार तरह के वार्निंग सिस्टम में सबसे आखिर की है जो मौसम की अत्यधिक विकट परिस्थितियों में जारी की जाती है. गर्मी की वजह से बीमार होकर काफी लोग अस्पताल का रुख कर रहे हैं.
गर्मी से बचने के उपाय
गर्मी में अधिक शुष्कता के कारण शरीर में जल की मात्रा कम हो जाती है। इसकी पूर्ति के लिए बार-बार जल और जलीय पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
धनिए को पानी में भिगो लें फिर उसे अच्छी तरह मसल लें और छानकर उसमें थोड़ी सी शकर मिला लें। इसे पीने से गर्मियों में राहत मिलती है।
इमली के बीज को पीसकर उसे पानी में घोलकर कपड़े से छान लें। इस पानी में शक्कर मिलाकर पीने से गर्मी में राहत मिलती है।
जहां तक हो सके गर्मियों में विटामिन ए युक्त फ्रूस्टी जैसे ब्लैक ग्रेप्स, हरे पत्ते वाली वेजिटेबल्स, विटामिन सी से युक्त रसीले फ्रूट्स जैसे आम, खट्टे फ्रूट्स और नींबू पानी लेने चाहिए।
इस मौसम में दही, मौसमी ताजे फल जैसे संतरा, पपीता, स्ट्रॉबेरी, ग्रेप का जूस ज्यादा से ज्यादा पीये। ये हेल्दी होने के साथ-साथ शरीर को अंदर से ठंडा रखने में सहायक होते हैं।
बेल का शरबत गर्मी के लिए बहुत उत्तम माना जाता है। गर्मी में मोटापा घटाने में भी यह सहायक होता है।
नारियल में प्रचूर मात्रा में पौष्टिक तत्व होते है। गर्मी में इसका सेवन सबसे अच्छा होता है।
नीबू की शिकंजी गर्मी के लिए बहुत अच्छा पेय है। इसे घर में आसानी से तैयार किया जा सकता है।
पुदीने में प्राकृतिक रूप से पिपरमिंट पाया जाता है, इसलिए गर्मी में यह बहुत उपयोगी होता है। लू, बुखार, शरीर में जलन और गैस की तकलीफ को दूर करता है।
किसी भी तरह की अपच,अजीर्णता, पित्त की अधिकता, पेट दर्द, गैस में जलजीरा लाभकारी होता है।
गर्मी के मौसम में जीरा-नमक डालकर छांछ पीना भी फायदेमंद होता है।
सादा पानी आपकी त्वचा को तरोताजा रखता है। आप अगर बहुत थकान महसूस कर रहे हैं तो पानी के छीटों से आप फ्रेश महसूस करेंगे।
एक बोतल में आप परफ्यूम की थोड़ी सी बूँदों के साथ ज्यादा मात्रा पानी मिला लें। स्प्रे बोतल की तरह इसका इस्तेमाल करें, इससे आप रिफ्रेश महसूस करेंगे।
खीरे के जूस को आप चेहरे पर लगाएं, यह प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र की तरह काम करता है। इससे चेहरे पर ठंडक महसूस होगी और आप सनबर्न की समस्या से बचे रहेंगे।
पिसी हुई चंदन, तुलसी और गुलाब आदि नेचुरल चीजें लगाने से गर्मी में राहत मिलती है। धूप से आने के कुछ घंटों बाद मुल्तानी मिट्टी और चंदन पाउडर लगाने से आपकी त्वचा को ठंडक महसूस होगी।
घमौरियां हो जाने पर नीम और तुलसी का पेस्ट लगाना फायदेमंद होता है। गुलाब की पत्तियों को पानी में भिगोकर उस पानी से चेहरा धोने पर गर्मी के मौसम में त्वचा मुलायम बनी रहती है।
चेहरे पर पीसी हुई चंदन और खीरे के जूस के साथ दो-तीन बूंद ग्लिसरीन की बूंदें और गुलाब जल मिलाकर उसका लेप लगाने पर भी राहत मिलती है।
Please follow and like us: