कोलकाता रोड शो विवाद के बाद अमित शाह ने की प्रैस वार्ता, बोले-CRPF न होती तो शायद मैं आज जिंदा न होता

नई दिल्ली, (PNL) : पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में अपने रोड शो के दौरान हिंसा के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ममता सरकार पर हिंसा करने के आरोप लगाए हैं. अमित शाह ने कहा है कि अब तक चुनाव के 6 चरण समाप्त हो चुके हैं, इन 6 के 6 चरणों में सिवाय पश्चिम बंगाल के अलावा कहीं भी हिंसा नहीं हुई. इसका मतलब साफ है कि हिंसा का कारण सिर्फ ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस है. शाह ने कहा कि ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति बीजेपी कार्यकर्ताओं ने नहीं बल्कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने तोड़ी थी. उन्होंने यहां तक कह दिया कि अगर कल सीआरपीएफ न होती तो शायद वह आज जिंदा नहीं होते.
विद्यासागर की मूर्ति किसने तोड़ी? अंदर कौन गया?- अमित शाह
प्रेस कॉन्फ्रेंस में अमित शाह ने कहा, ”मैं ममता जी को बताना चाहता हूं कि आप सिर्फ 42 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं और बीजेपी देश के सभी राज्यों में चुनाव लड़ रही है. अगर बीजेपी हिंसा करती तो देश के हर राज्य में हिंसा होती. मेरे रोड शो के दौरान तीन बार हमले किए गए. वहां हिंसा को रोकने के कोई इंतजाम नहीं थे. कल की घटना चिंताजनक है.” उन्होंने कहा, ”हिंसा के दौरान विद्यासागर कॉलेज का गेट बंद था तो फिर ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति किसने तोड़ी? अंदर कौन गया? जबकि बीजेपी कार्यकर्ता सड़क पर थे.”
अमित शाह ने कहा, ”रोड शो से पहले ही वहां लगे पोस्टर फाड़ दिए गए. रोड शो शुरू हुआ, जिसमें अभूतपूर्व जनसैलाब उमड़ा. 2.30 घंटे तक शांतिपूर्ण तरीके से रोड शो चला. 3 बार हमले किये गए और तीसरे हमले में तोड़फोड़, आगजनी और बोतल में केरोसिन डालकर हमला किया गया.” उन्होंने कहा, ”जितने भी ये महामिलावटी हैं, ये घोर नकारात्मकता के साथ चुनाव लड़ रहे हैं. इनके पास दो ही मुद्दे हैं- मोदी की छवि को खराब करो और मोदी को हटाओ, लेकिन इन महामिलावटी लोगों को ऐहसास नहीं है कि मोदी आज यहां पर 130 करोड़ भारतीयों के आशीर्वाद से है.”
अमित शाह ने आगे कहा, ”मैंने बंगाल की जनता के आक्रोश को देखा है. जैसी स्थिति वहां ममता दीदी ने बनाई है, उसे जनता स्वीकार नहीं कर सकती.” उन्होंने कहा, ”अब बंगाल की जनता ममता जी को हटाने का मन बना चुकी है और मैं पूरी तरह आश्वस्त हूं कि इस बार बंगाल में बीजेपी 23 से अधिक सीटें जीतने जा रही है.”
अमित शाह ने बताया, ”मुझ पर एफआईआर दर्ज की गई है. ममता दीदी आपकी एफआईआर से हम बीजेपी वाले नहीं डरते. हमारे 60 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की जान आपके गुंडों ने ले ली है फिर भी हमने अपना अभियान नहीं रोका है.” उन्होंने कहा, ”अगर आप ये संदेश देना चाहती हैं कि मुझ पर एफआईआर करके बीजेपी कार्यकर्ता डर जाएंगे, मैं आपको सुनिश्चित करता हूं कि बीजेपी का कार्यकर्ता और वहां की जनता सातवें चरण में और भी ज्यादा आक्रोश के साथ आपके खिलाफ मतदान करने जा रहे हैं.”
Please follow and like us:
error