गुरुग्रंथ साहिब के प्रकाश पर्व पर अलौकिक आभा से दमक उठा दरबार साहिब, रोश्‍ानी से नहाई रात

PNL, अमृतसर। श्री गुरु ग्रंथ साहिब के प्रकाश पर्व पर साेमवार देर रात श्री दरबार साहिब प‍रिसर अलौकिक अाभा से दमक उठा। स्‍वर्ण मंदिर परिसर में अद्भूत प्रकाशमाला और आतिशबाजी से रात राेशनी से नहा गई। श्रद्धा और उत्‍साह से लबरेज संगत ने पूरे माहौल को गुरुमय बना दिया। दिनभर लाखों श्रद्धालुआें का सैलाब श्री दरबार साहिब में नतमस्‍तक होेने उमड़ा और शाम ढलते ही दीपमाला व रोशनी से पूरा परिसर दमक उठा। इस अवसर पर पूरी गुरुनगरी खिल उठी।

श्री हरिमंदिर साहिब, अकाल तख्त साहिब व अटल राय साहिब में सजाए गए सुंदर जलौ

दिन में श्री गुरु ग्रंथ साहिब के संपादन स्थल गुरुद्वारा श्री रामसर साहिब से निकाले गए आलौकिक नगर कीर्तन में आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। ज्ञानी जगातर सिंह ने अपने सिर पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब का पावन स्वरूप धारण किया और उन्‍हें श्री पालकी साहिब में सुशोभित किया। इस दौरान ज्ञानी जगतार सिंह ने चौर साहिब की सेवा निभाई। नगर कीर्तन में श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह भी विशेष रूप में शामिल हुए।

Please follow and like us: